Saturday, December 5, 2009

"ग़ज़ल"- मौत आती है छुपालो हमको...........

सितम्बर ०९,१९८६
विजय भाटी
**********
मौत आती है छुपालो हमको।

उम्रभर साथ निभाने वालों हमको॥

मै हूँ ऐगीत दर्द भरा हमदर्द मेरे।

चाहे जिस राग पे गालो हमको॥

यूँ अंधेरों में रात गुजारी रोते रोते।

सुबह होती है सुलालो हमको॥

कुछ तो फुर्सत दो खुदा की इबादत करलूँ।

दर्द-ऐ-दिल, ओ उनके ख्यालों हमको॥

ये भी क्या बात वो आए मुस्कुरा भी न सकूँ।

कुछ तो दो सुकूँ दिल के छालों हमको॥

तुमने खाई थी कसम हर हाल में रहूंगी तेरी।

आज गिरता हूँ, आगोश में उठालो हमको॥

जिद न करो के मै छूउगा भी नही।

वजह है तीन ओ पिलाने वालों हमको॥

इक धर्म की मनाही, दूजी खाई है कसम।

तीसरी पी के आया हूँ न पिलाओ हमको॥

इतनी पीकर के भी है 'विजय' प्यासा-प्यासा।

ऐ घटा सावनी अलको से नहलालो हमको॥

20 comments:

  1. great sir... kin shabdo me bayan karu aapne kitna khubsurat likha hai... bas ye kah sakta hu ki ye hume bhi bahut kuch sikhayegi ki kaise achhi rachnaye likhi jati hai.. clap for u..

    ReplyDelete
  2. veri nice..........
    bahut hi gaharai se bhari hai ye rachna.......
    wajah hai 3 o pilaane walon hamko..........
    nice line sir..............

    ReplyDelete
  3. bahut khoobsurat rachna hui hai sir,,,

    maza aaya padh kar..shubhkamnayein!!

    ReplyDelete
  4. अच्छी रचना। बधाई। ब्लॉगजगत में स्वागत।

    ReplyDelete
  5. Dard bharee rachna...swagat hai!

    ReplyDelete
  6. http://shamasansmaran.blogspot.com

    http://kavitasbyshama.blogspot.com

    http://aajtakyahantak-thelightbyalonelypath.blogspot.co

    ReplyDelete
  7. Sisakti rachna...sundar alfazonme dhali..aapka snehil swagat hai!

    ReplyDelete
  8. अगर गजल का नाम दिया है तो गजल ही कहो ,
    वरना इसे कविता कहना ज्यादा उपयुक्त होगा
    हमारी बिरादरी में शामिल होने की बधाई

    ReplyDelete
  9. kya baat hai. gajal kaho ya kavita matlab to bhav se hai. bhav hone chahiye.narayan narayan

    ReplyDelete
  10. हिंदी ब्लाग लेखन के लिए स्वागत और बधाई
    कृपया अन्य ब्लॉगों को भी पढें और अपनी टिप्पणियां दें

    कृपया वर्ड-वेरिफिकेशन हटा लीजिये
    वर्ड वेरीफिकेशन हटाने के लिए:
    डैशबोर्ड>सेटिंग्स>कमेन्टस>Show word verification for comments?>
    इसमें ’नो’ का विकल्प चुन लें..बस हो गया..कितना सरल है न हटाना
    और उतना ही मुश्किल-इसे भरना!! यकीन मानिये

    ReplyDelete
  11. ब्लॉग जगत में आपका स्वागत है अपने विचारों की अभिव्यक्ति के साथ साथ अन्य सभी के भी विचार जाने..!!!लिखते रहिये और पढ़ते रहिये.... कृपया वर्ड-वेरिफिकेशन हटा लीजिये

    ReplyDelete
  12. स्नेह सौरभ के ह्रदय कमल से आप सभी का धन्य वाद :)

    ReplyDelete
  13. बहुत सुंदर रचना
    हिंदी ब्लाग जगत में आपका स्वागत है।

    pls visit...
    www.dweepanter.blogspot.com

    ReplyDelete
  14. Achhi Rachna Hai...
    I m available on http://hindi-poet.blogspot.com/

    ReplyDelete